On Page SEO क्या है और कैसे करे (complete guide) हिंदी में 2020

0
194
On Page SEO क्या है और कैसे करे
On Page SEO क्या है और कैसे करे

On page SEO- हिंदी में

किसी भी website को गूगल पर रैंक कराने के लिए 3 main parts होते है ।

  • Technical SEO
  • On Page SEO
  • Off Page SEO

आपकी website के हर post के लिए on page seo करना होता है । ये google और किसी भी search engine को बताता है की आपका post किस topic के बारे मे बात कर रहा है और कौन-कौन से keywords से आपकी post को रैंक करवाना है । On Page SEO बहुत ज्यादा important होता है। इसमें बहुत कम time लगता है और ऐ सिर्फ एक बार करना होता है लेकिन अगर आपने सही ढंग से on page seo किया तो बहुत ज्यादा chances होता है की बिना कोई off page seo और backlink बनाए आपकी website google या किसी भी search engine पर rank कर जाएगा। 

On Page SEO करने के लिए 3 चीजों की जरुरत होती है।

  1. Content with images 
  2. Target Keywords 
  3. Yoast Plugin

1.Content with images

आपका content unique और high quality का होना चाहिए। Unique मतलब की copied content नहीं होना चाहिए। इसे check करने के लिए free plagiarism checker जैसे कि duplichecker और copyscape यूज़ कर सकते है ।  अगर आपका content copied है तो google आपकी post को rank नहीं करेगा। High quality content मतलब ऐसा content जो कि आपकी website visitors को satisfy कर सकें। मानलो की आपने एक post किया है how to invest in share market तो इसका मतलब है कि जब लोग google में keywords को search करके आपकी post पर आएँगे तो उनको real में समझना चाहिए कि share market में कैसे invest करना चाहिए और उनको trust होना चाहिए की जिस इंसान ने इस post को लिखा है उसको share market का बहुत अच्छा knowledge है । आपकी content का real length 1500 -1800 words होने चाहिए । आपको आपके post के लिए images भी create करने पड़ेंगे ।

2.Target Keywords

आपको कौनसा keywords से आपके post को rank करवाना हैं, उसके लिए keywords की पूरी list आपके पास होना चाहिए। ये आपको keywords search से मालुम पड सकता है। Keywords Search बहुत ही important होता हैं। अगर आपने कोई important keyword miss कर दिया तो आप लाखो रूपए miss कर सकते हो जोकि आप कमा सकते थे।

जैसे की पहले वाला share market का examples लेते है आपका target keywords है how to invest in share market इसका monthly searchers है 17k लेकिन अगर आपने proper keywords search नहीं किया है, और आपने second keywords search किया| how to invest in stock market. दोनों का meaning same होता है और दूसरे keywords का monthly searchers है मात्र 9.2k, अगर इसको miss कर दिया तो आप लाखो रूपए miss कर सकते है। इसलिए आपका keywords search एक दम perfect होना चाहिए । Keywords Search के लिए काफी सारे tools है जैसे की google keywords planner, ubersuggest, long-tail keywords, etc. आपके पास primary keywords के साथ 5-10 secondary keywords भी होना चाहिए ।

3.Yoast Plugin

Yoast SEO सबसे widely रूप से popular wordpress plugins में से एक है और यह समझना आसान है कि क्यों  yoast आपके लिए control titles और meta descriptions जैसी चीजें करना आसान बनाता है, अपने targeted keywords set करें और track करें कि आप कितनी बार उनका उपयोग कर रहे हैं, sitemap manage करें, और बहुत कुछ। SEO Premium version की कीमत एक साइट के लिए $ 69 है और अतिरिक्त सुविधाएँ प्रदान करता है।  इन सुविधाओं में से कुछ आप निश्चित रूप से free plugins का उपयोग करके प्राप्त कर सकते हैं, हालांकि, जो लोग पैसा कमाने के लिए blogging कर रहे हैं या अपने full time business के लिए word press का उपयोग कर रहे हैं, yoast seo plugin निश्चित रूप से इसके लायक है। Yoast SEO स्थापित करने के बाद, आप अपने wordpress dashboard में नए SEO tab पर क्लिक करके Yoast SEO dashboard तक पहुँच सकते हैं।  यदि आप पहली बार plugin का उपयोग कर रहै है, तो आपको पहली बार SEO configuration के लिए एक बड़ा नोटिस देखना चाहिए।  

Website Page को सर्च में top पर लाने का तरीका

On-Page SEO को बिना practically समझे| आप इसे अपने blog Content पर लागू नहीं कर सकते, और अगर आप अपने post का On-Page SEO अच्छे से नहीं करते है तो आपको better SERP नहीं मिल सकता।

1.SEO Friendly Permalink

Permalink को हमेशा छोटा और keyword को साथ में लेकर बनाए ।  बेकार दिखने वाले URL को ignore करे जैसे:

hindimehelp.com/p=123

इसके साथ URL को ज्यादा बड़ा भी नहीं रखे जैसे:

hindimehelp.com/on-page-seo-apne-page-ko-seo-ke-liye-perfect-optimize-kare

लेकिन ऐसा क्यों?

ऐसा इसलिए क्योंकि google हमे post के permalink में से शुरू के 3-5 words को ज्यादा value देता है । जिसका मतलब है कि हमें अपने URL मे targeted keyword को place करना चाहिए । आप जितना अपने Permalink URL में केवल Main Keyword को ही place करोगे और URL को short रखोगे तो यह अलग और छोटे में अच्छा लगेगा

2. Title के शुरू में Keyword

Definetly आप अपने पोस्ट के लिए targeted keyword (जिस keywords से अपने post पर ranking चाहते है) ko title में place करते है, और यह अच्छा भी है क्योंकि यह Google का सबसे important On-Page SEO factor है ।

लेकिन,  इसके साथ आपको इस बात पर भी ध्यान देना चाहिए की अपने post मैं keywords को title के शुरुआत में रखे ।

हो सकता है आप कुछ post के title को direct अपने targeted keyword से शुरू नहीं कर पा रहे है या कोई meaning ही नहीं बन पा रही है तो भी कोशिश करे की आप अपने targeted keyword को title  के end में न रखे ।

3. Surprise करने वाला Multimedia

केवल text से content बनाना ही काफी नहीं होता है, कोशिश होनी चाहिए की उस content मैं Videos और Images भी हो।

Videos और Images के वजह से आपके blog पर आने वाला user कुछ वक्त और रुकेगा । जिससे bounce rate कम होगी और time on page बढ़ेगा ।

Bounce Rate: जब user blog पर आकर बिना blog के second page पर जाए ही ब्लॉग को बंद कर देता है।

Time on Page: Visitor आपकी साइट पर कितना टाइम तक रुक रहा है ।

सवाल बनता है की Mutlimedia SEO के लिए कैसे अच्छा है, Right?

आप अपने content में attractive videos और images add करोगे तो इससे आपके blog की bounce rate कम होगी यानी user आपकी साइट को close कर दे, इसके chances कम हो जाएंगे| जो कि google seo के लिए अच्छा है और साथ में time on page बढ़ेगा जिससे user आपकी साइट पर ज्यादा time तक रहेगा तो ये भी google seo के लिए अच्छा है ।

कुल-मिला कर google user behaviour भी देखता है कि user आपकी साइट पर कितने time तक रुकता है और कितने user आपकी site को बिना आगे पढ़े close कर रहे है ।

अगर कोई visitor आपके content पर google से search करके आता है और page loading होते ही आपके उस content से back आ जाते है तो यह आपके search engine ranking के लिए negative effects डालेगी इसलिए हमारी कोशिश होनी चाहिए की उस visitor को अपने साइट पर रोके रखे ।

4.Keyword को सुरू के 100 Words में ही रखे

आपके article या content में शुरू के 100-150 words में ही targeted keywords होना चाहिए जो first paragraph होता है|आपके content का उसी में आपके keywords होना चाहिए ।

Keywords को शुरू के 100 words में ही उसे use करने से google यह समझ जाता है की आपका page किस बारे में है ।

5. Loading Speed कम करे 

Google यह भी record करता है की आपकी blog की loading speed कितनी है। यानि आपके blog को खुलने की speed fast होनी चाहिए ।

इसे कम करने के लिए आप अपने blog पर high definition images को compress कर सकते है, और अगर अपने blog को self host पर रखा है तो fast speed hosting ही ले । अगर आप Google Blogger (Blogspot) use करते है तो आपको hosting की power के बारे में देखने की कोई जरुरत नहीं है क्योंकि blogger platform में आपकी site google के server पर host होती है ।

अपनी कोशिश बनाये रखें की आपकी site कम से कम 4 seconds में ही open हो जाये । और अगर आपके blog पर users indian आते है तब आपको अपनी site की स्पीड को कम करना ही चाहिए।

Research से पता चला है 75% users आपकी साइट को दोबारा visit नहीं करेंगे .अगर आपकी site खुलने में 4 seconds से भी ज्यादा time लेती है ।

साइट की स्पीड के लिए आप wprocket plugin की हेल्प ले सकते है जो की आपकी साइट से cache को डिलीट करने में हेल्प करता है|

GTMetrix.Com का use करके अपनी site की loading speed को चेक कर सकते है।

Website की loading speed कैसे कम करे उसकी कुछ important tips मैने share की है, जो आप अपनी site पर जरूर अप्लाई करे ।

6. Apne Title में Modifiers add करे

Modifiers जैसे “Best”, “Top”, “Famous”, “Guide”, “Complete Guide”, “Review”, “Helpful” etc. को अपने title में add करने से इसे और भी attractive बना सकते है।

जैसे आपको एक कंटेंट लिखना है जिसका theme है “WordPress के Tools”

तो इसे title में इस तरह से add कर सकते है:

1) “Top 10 WordPress Tools जो आपका time बचाएगा ”

2) “10 Famous Tools जिसे आपको भी use करना चाहिए ”

3) “Best WordPress Tools को use करने पर Complete Guide”

ऐसा करने से अगर आप facebook, google plus पर भी अपने content का link share करते है तो वह से आपको link मिलने के chances high होंगे ।

और साथ में google पर site seo होने से high chance होंगे की users आपके blog content का title देखे तो पहले आपके blog के content को पहले open करे ।

अगर आपको सीखना है कैसे एक बढ़िया title लिख सकते है जिससे आपका seo improve हो तो आप मेरी इस post को read करे जिसमे मेने बताये है blog post title लिखने के 6 बढ़िया तरीके ।

7.Social Sharing Buttons Use Kare

क्या chance होते है आपके content को पढ़ने के बाद readers आपके उस content को अपनी social profile पर share करे?

Chances are very high जब आप social share button का use करते है तब users आपके content को shares करेंगे।

अगर आप social share button add नहीं करते है, तब आपके blog के ऐसे readers काफी कम होंगे जो address bar से URL copy करके अपने social profile पर post करके share करे।

यानि social share button का use करना बहुत जरुरी है अगर आप अपने content को social site पर viral करना चाहते है।

अगर आप google blogger platform use करते है तो हो सकता है आपके tamplets में ही Social Share Button option ho, अगर नहीं है हो तो आपको अलग से social share button add कर सकते है।

और wordpress users बस digg digg plugin install कर सकते हैं।

8.Content Ko Bada Rakhe

Research से पता चला है, आपके content में जितने Text length होगे उतने chance high होंगे आपके google first page पर रैंक होने के लिए ।

जिस content की high ranking चाहते हो और वो content का topic भी काफी high competition में है तब आपको कोशिश करनी चाहिए की post कम से कम 2000 words में तो लिखी जाए और अगर इससे ज्यादा words में लिखते है तो वो और भी best है ।

और rule बना देना चाहिए की हर content को at least 1000 words से ज्यादा में लिखे।

जितना long content होगा उसमें उतनी ही ज्यादा long-tail keywords को use में ले सकेंगे । यानी उतना ही अच्छा है seo के लिए।

9.Internal Links

Internal link का मतलब है की अपने new content में पुराने published content का link भी add करे । लेकिन उस new content में उसी content का internal links add करे जो उससे related है ।

अगर इसका अच्छा सा examples देखना है तो वो है wikipedia , Wikipedia पर average हर post पर 50+ internal links आपको मिल जाएँगे ।

on page internal link seo

इस बारे में मेरा suggestions होगा की new content पर कम से कम 2-5 old content को link करे। जिससे आपकी blog की bounce rate भी कम होगी क्योंकि आप user को एक ही content नहीं दे रहे है उसके साथ में और भी content आगे कर रहे है पढ़ने के लिए तो visitors आपके blog पर और ज्यादा time तक रुकेंगे।

10.Use Keyword in H2 and H3

आप अपने content में h2 and h3 को subheading देने के लिए तो उसे use करते ही होंगे? अगर नहीं तो इसे use में ले क्योंकि first यह आपके content को more users friendly बनाती है और second उसमे keywords रखने से यह on page seo optimization को और भी strong करेगा।

on-page-subheading-keyword

जो आपका keywords है आपको उसका ये ध्यान भी रखना है वो एक limit से ज्यादा ना ही, नहीं तो वो भी keyword staffing खेलता है। जो हमारे लिए अच्छा नहीं है । Keywords की क्या limit होनी चाहिए उसकी जानकारी मैने शेयर की है वो आप read कर सकते है।

11. Image Optimization

1) Image Name

अपने content में जो image add करते है उस image का नाम भी वही दे जो आपका target keyword है ।

2) ALT Tag

Image Optimization का second step आता है ALT tag add करे ।

2.1) Blogger

अगर आप google blogger platform user करते है इसके post editor में image में Alt Tag add कर्ने का option हैं। ALT Tag में भी अपने target keyword को ही place करे ।

2.2) WordPress

अगर आप WordPress platform user करते हैं इसके post editor में भी image में ALT Tag add करने का option हैं । जिसके लिए केवल Image के border पर edit button पर click करे ।

Image optimization करने का दूसरा reason यह है की google को यह पता चलने में आसानी होती है की आपका content किस बारे में है। जो आपको search traffic आने में मदद करेगा ।

For example आपके content में 2 images है जिस पर Alt Tag add किया है एक पर “ Online Make Money ” और दूसरे पर “offline-make-money” तो Google समझेगा कि आपका content make money traffic पर है।

https://wordpress.com/

12. Post Description

हमारी जो post है वो search engine में या फिर social media में share करने पर जो दीखता है वो और Title, Permalink और उसका Description और Post की Thumbnail हैं ।

इन्ही को देख कर user उनपर click करता है।

Blogger में post description कैसे add करे उसकी जानकारी यहाँ है और अगर आप word press use करते है तो seo post plugin use करे।

उम्मीद है यह कंटेंट आपको on page optimization को अच्छी तरह से समझाया है, comment करके अपना feedback दे या आपका कोई question है तो जरुर करे।