Google ranking kya hai and Kisi Bhi artical ko rank Kaise karaye 2020

0
535
Google ranking kya hai and Kisi Bhi artical ko rank Kaise karaye 2020
Google ranking kya hai and Kisi Bhi artical ko rank Kaise karaye 2020

Google Ranking क्या है?

दोस्तों, जब भी आप अपनी साइट का आर्टिकल public करते है तो गूगल का अल्गोरिथम बहुत सारे फैक्टर पर आपके आर्टिकल को रैंक प्रधान करता है| अगर आपके आर्टिकल का on-page seo, content quality और भी चीज़े जो आपको आर्टिकल में बताई गयी है अगर सही होती है तो गूगल आपके कंटेंट को अपने फर्स्ट पेज पर दिखाता है जिससे आपकी साइट को ट्रैफिक मिलता है क्युकी लोग फर्स्ट रैंक आर्टिकल को क्लिक करना ज्यादा पसंद करते है|

Google Ranking को कैसे बढ़ाये?

दोस्तों, जैसा की मैंने आपको बताया की Google Ranking बहुत सारे फैक्टर पर डिपेन्ड रहती है| गूगल के सर्च इंजन का एक ही काम है लोगो को बेस्ट रिजल्ट प्रोवाइड करवाना| इसलिए सर्च इंजन हमे रैंक करने में बहुत हेल्प करता है| इसके अलावा आप नीचे लिखें फैक्टर को पढ़कर अपने आर्टिकल को रैंक प्रधान करवा सकते हैं|

1. Content is king

दोस्तों, गूगल हमेशा फ्रेश और knowledgeable कंटेंट को preference देता है| इसलिए आपको हमेशा खुद से नॉलेज इकट्ठी करके या कंटेंट राइटर को hire करके लोगो को सही valuable कंटेंट provide करवाना चाहिए| जिससे आपका कंटेंट गूगल में टॉप पेज पर आ सकें| गूगल आजकल बहुत स्मार्ट होता जा रहा है| आप उसे बेवक़ूफ़ नहीं बना सकते| इसलिए किसी दूसरी साइट से कंटेंट लेकर उसे modified करके अपनी साइट में अपलोड न करे| इससे कंटेंट कॉपीराइट में तो नहीं आता लेकिन रैंक भी नहीं होता हैं| इससे बचे? में खुद 3 महीने तक ऐसा ही करता रहा और फिर जब ट्रैफिक नहीं नहीं आया| तब मैंने नॉलेज इकट्ठी करके खुद का कंटेंट लिखना शुरू किया| आप किसी भी कंटेंट राइटर को hire कर रहे है तो सामने कंटेंट लिखवाये क्युकी बहुत सारे कंटेंट राइटर work from home के नाम पर लोगो को दूसरी साइट का कंटेंट modified कर चिपका देते है| इससे एक तो पैसा waste होता है और दूसरा कंटेंट रैंक नहीं होता| में खुद शुरुआत में इस चीज़ का शिकार रहा हु इसलिए इन चीज़ो से बचें? आपकी साइट को रैंक करवाने में कंटेंट 80% काम करता है| इसलिए कहा जाता है| Content is King.

2. Focus Keyword

दोस्तों, यह फोकस कीवर्ड का अर्थ है की आप जिस भी टॉपिक पर ब्लॉग पोस्ट लिखने जा रहे हैं उसे आप गूगल में किस कीवर्ड के साथ रैंक करवाना चाहते है| आपको title में, Meta-discriptions और h1 heading में उस कीवर्ड का आपको यूज़ करना होगा| और अपने ब्लॉग में उस कीवर्ड का बहुत बार यूज़ करना है जिससे गूगल उस ब्लॉग को crawl कर सकें और focus कीवर्ड के जरिये पहचान सके कि आपकी पोस्ट किस कीवर्ड पर based है| और लोगो को वो ब्लॉग provide करवा सकें| ध्यान रखियेगा- आप अपने सभी पोस्ट में एक ही फोकस कीवर्ड प्रोवाइड नहीं करा सकते| गूगल इसे accept नहीं करता है| जैसे मान लीजिये आपका एक ब्लॉग है-bloggertimer क्या है और कैसे काम करता है? तो आपका focus keyword होगा bloggertimer! और आपको title में, Metadiscription में और h1और h2 heading में इन सब में इस कीवर्ड का यूज़ करना होगा जिससे फोकस कीवर्ड सेट हो सके| इसके अलावा आपको ब्लॉग के बीच बीच में कई बार Bloggertimer का यूज़ करना है| यहां आपके पोस्ट की रैंकिंग में बहुत हेल्प करता है| जिससे साइट की Google Ranking में हेल्प मिलती है|

3. Long Keyword-

दोस्तों , जितना हो सकें Title को Long रखने की कोशिश करें| क्योकि short keyword के मुकाबले long keyword ज्यादा ट्रैफिक लाने में हेल्प करते हैं| और specific audience तक पहुंचते है| आप बहुत सारे tool जैसे Semrush, Ahref और google Search  tool की हेल्प ले सकते है keyword को findout करने में| Google Ranking को बढ़ाने  में कीवर्ड बहुत हेल्प करते है|

4. External Link-

दोस्तों , जब भी आप किसी भी पोस्ट को अपलोड करते है तो ध्यान रखियेगा कि जो भी आप पोस्ट में external  link प्रोवाइड करवा रहे है| | उसका DA  हमेशा 30-40 या उसके ज्यादा  का होना चाहिए| साथ ही आपको यह भी ध्यान रखना चाहिए  कि आप जो भी External  link प्रोवाइड करवा रहें  है वह पोस्ट से related होना चाहिए| जिससे यूजर को अच्छा लगें और अगर ना  हो  तो कोई प्रॉब्लम नहीं|  लेकिन external link का DA और PA सही होना चाहिए| जिससे यह आगे जाकर हमारे लिए broken link बनकर सामने न आये|और Google Ranking बनी रहे|

5. Internal Link-

दोस्तों,  internal  link आपकी google ranking और SEO को इतना बढा सकता है कि आप सोच भी नहीं सकतें | यह आपकी साइट की Bounce rate को कम करता हैं| और साइट पर कस्टमर टाइमिंग को बढ़ाता है| जिससे गूगल का साइट पर Trust Flow बढ़ता है| और गूगल साइट को रैंकिंग प्रोवाइड करवाता हैं| ध्यान रखें -आप जब भी  आर्टिकल पोस्ट करके समय internal link देते है तो लिंक पोस्ट के हिसाब से प्रोवाइड करवाये|

6. पुराने ब्लॉग को अपडेट करें

दोस्तों, DAILY BASIS पर अपने ब्लॉग को अपडेट करके रहिये| इससे गूगल को लगेगा कि आपकी साइट पर डेली वर्क होता है| तो धीरे-धीरे आपकी साइट का गूगल Trust FLOW बढ़ेगा | गूगल को लगेगा कि यह fake साइट नहीं है| इसीलिए daily basis पर कंटेंट को अपडेट करें| आप इसमें कुछ नया कंटेंट add कर सकते है|या इमेज या वीडियो को चेंज कर दूसरी image या video प्रोवाइड करवा सकते है| यह भी google ranking पाने का एक अच्छा जरिया है|

7. Image और video को compress करके यूज़ करिये

दोस्तों, अगर आप चाहते है कि आपका कंटेंट लोगो को जल्दी दिखे और लोड होने में टाइम न लगाए  तो  आपको अपनी इमेज और वीडियो जो भी आप ब्लॉग में show करायें उसे पहले compress कर  दे जिससे आपकी  साइट का loading time कम हो जाए और कस्टमर को आर्टिकल पढ़ने में समय न लगे|

8. social platform पर लिंक शेयर करें

बहुत से फेमस bloggero का कहना है कि आप केवल आर्गेनिक ट्रैफिक पर ही depend नहीं  सकते| क्योकि अगर आपकी साइट नई है तो थोड़ा बहुत टाइम तो लगेगा ही| इसलिए आपको सोशल प्लेटफार्म जैसे- फेसबुक,इंस्टाग्राम , pinterest पर Id बनाकर वहां अपने फ़ॉलोवर बनाकर अपने कंटेंट को शेयर करना चाहिए| जिससे अधिक से अधिक लोग आपकी साइट पर पहुंच सके| यह साइट की रैंकिंग को बढ़ाता है| ऊपर दी हुई image से आप समझ गए होंगे कि कैसे आप इस काम को कर सकते है|

9. Broken link को सही करें

दोस्तों , broken  link  या हम इन्हें dead link भी कह सकते है| जब भी हम अपने ब्लॉग में internal या external link प्रोवाइड करते है| तो हमे यह ध्यान रखना चाहिए कि कोई link ऐसा तो नहीं है जो error show कर रहा हों मतलब की broken  link  हो क्योकि  यह link आपकी साइट की reputation को गिरा देता है| इसलिए हमेशा लिंक को चेक करके रहना चाहिए| बहुत से ब्लॉगर किसी दूसरी साइट से बैकलिंक लेते है लेकिन हमें समय समय पर  इन्हे भी चेक करके रहना चाहिए कि कही वह साइट बंद तो नहीं हुई जिससे बैकलिंक broken link में बदल जायें| और हमारी साइट की गूगल रैंकिंग गिर जाए| https://www.deadlinkchecker.com/

आप इस साइट की हेल्प से अपनी साइट में broken link  को चेक कर सकते  है|

10. Spam score को चेक करते रहें

दोस्तों, अगर आपकी साइट का spam score 1% है तो आप टेंशन फ्री रहियें लेकिन अगर यह 1% से अधिक है तो उसका मतलब है की आपकी साइट में कोई स्पैम कर रहा है| और आपको गलत तरीके से या गलत साइट से बैकलिंक प्रोवाइड करवा रहा हैं| जिससे आपकी साइट का स्पैम स्कोर बढे| Blogging की रिपोर्ट के अनुसार- गूगल ऐसी साइट को रैंकिंग नहीं देता है| और साइट की रैंकिंग घटा देता है| आप जिस किसी भी साइट से बैकलिंक अगर ले रहे है तो देख लीजिये कि उनका spam स्कोर score ज्यादा तो नहीं है अगर ऐसा है| तो आप उस साइट से बैकलिंक मत लीजिये| बहुत सी sites जो गूगल अल्गोरिथम को हानि पहुंचाने का काम करती है| गूगल ऐसी sites को banned कर देता है| यही sites स्पैम फैलाने का काम करती है| किसी भी valuable साइट का स्पैम स्कोर 1% होता है| इसलिए इसे इतना ही बनाये रखे| आप semrush ,ahref , moz जैसी sites की हेल्प से अपना spam score चेक कर सकते है| और जिन sites ने आपको bad backlink proivde कराये है, उनकी लिस्ट बनाकर गूगल की हेल्प से disavow कर उन्हें हटा सकते है| basically में Websiteseochecker साइट की हेल्प से अपनी साइट का spam score चेक करता हूँ| और आप इसमें alexa रैंकिंग और DA,PA चेक कर सकते हैं|

11. Google Search Console में sitemap अपलोड करें

दोस्तों, यह एक बहुत जरुरी step  है जो आपको करना होता है|  इसमें आपको अपनी साइट का sitemap गूगल सर्च console में सबमिट करना होता है| जिससे गूगल को पता चले कि आपकी साइट भी गूगल में मौजूद (exist ) है| इससे गूगल का  ध्यान आपकी साइट  पर भी जाता है| जो  Google Ranking के लिए बहुत जरुरी है| अगर आपको अपनी साइट का sitemap देखना नहीं आता तो अपने डोमेन का नाम लिखकर  टाइप करना है और आपकी साइट का sitemap निकलते आ जाएगा और बस  फिर आपको इसे google search console में जाकर सबमिट करना है|

12. सही डोमेन का चुनाव करें

दोस्तों , कही ऐसा तो नहीं है कि आपक डोमेन का नाम blogging.com है और आप लोगो को कुछ और proivde करवा  है| अगर ऐसा है तो तुरंत आप या तो साइट का कंटेंट change कर दीजिये या फिर डोमेन को| क्योकि इससे आपके users और गूगल दोनों confusion में रहेंगे| एक सही डोमेन आपके यूजर बेस को बहुत ज्यादा बढ़ा सकते है| इसलिए कंटेंट के अनुसार डोमेन का चुनाव कीजिये| जैसे अगर आपको इंडिया में अपना कंटेंट शो करवाना है तो आप जो भी डोमेन का चुनाव करें उसमे .in का यूज़ करे और वही अगर आपको इंडिया के बाहर कंटेंट प्रोवाइड करवाना है तो आपको .com का यूज़ करना चाहिए| और में आपको सलाह  दूंगा की आपको .com का यूज़ करना चाहिए| जिससे आपको अच्छा खासा ट्रैफिक मिल सकें|

13. सही hosting खरीदे

दोस्तों, एक सही होस्टिंग साइट के लिए अमृत का काम करती है। यदि आपकी साइट वर्डप्रेस पर बनी है, तो आप हर होस्टिंग का उपयोग नहीं कर सकते। क्योंकि यह साइट की speed, y- Slow speed, Page size और Loading time को प्रभावित करता है। जिसका साइट की रैंकिंग पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। और साइट को रैंकिंग प्राप्त करने में असमर्थ है जो Google ranking में परेशानी का कारण बनता है। मेरा मानना है कि आपको SiteGround, Greengreek और Hosgator जैसी साइटों से ही होस्टिंग लेनी चाहिए। क्योंकि इनकी होस्टिंग मुख्यतः ब्लॉगिंग साइट के लिए होती है। आप GTmetrix की मदद से अपनी साइट की स्पीड, पेजाइज़ और लोडिंग-टाइम की जांच कर सकते हैं।

14. साइट की स्पीड पर ध्यान दे|

दोस्तों, हमें साइट की स्पीड पर भी ध्यान देना चाहिए| जैसा की मैंने आपको बताया कि इसके लिए सही होस्टिंग की जरुरत होती है| लेकिन यह साइट की स्पीड पूरी तरह सही नहीं करती| इसके लिए आप W3 cache plugin की हेल्प ले सकते है| वैसे तो यह paid-plugin है| लेकिन आप इसका फ्री plugin  भी यूज़ कर सकते है| यह आपके साइट के load को कम करता है| और साइट के trash को साफ़ करता है| बस आपको अपने admin-panel  में जाके delete cache  और clear cache पर क्लिक कर trash को डिलीट करना  है| और यह cache को क्लियर कर देता है| लेकिन अगर आपके पास पैसे है तो आप paid-Plugin का यूज़ कर सकते हो| यह आपकी साइट के लोड को कम करने के साथ-साथ Yslow speed ,Page-speed ,और loading time को सही कर देता है| जैसा की आप image में देख रहे है| ये आपकी साइट को बिलकुल वैसा ही कर  देता है| और यह कोडिंग को भी compress कर देता है| और आप पोस्ट में जो image , video यूज़  करते है| उसे Automatically compress कर देता है| मतलब यह एक हेल्पफुल plugin है|

15. साइट के trash को हटाते रहें|

दोस्तों, जब भी आप साइट पर काम करें तो अपनी साइट के cache को clear या delete करके रहिये| इससे साइट का लोड कम होगा और साइट अच्छे से काम करेगी| इसलिए काम के बीच-बीच में cache को clear करके रहें|

16. Backlink बनायें

दोस्तों, Content is  King लेकिन साइट के लिए बैकलिंक भी बहुत जरुरी है| जो साइट की रैंकिंग और ट्रैफिक बढ़ाने  का एक अच्छा माध्यम है| अगर कोई साइट जिसका DA,PA बहुत ज्यादा है और वह Trusted site  है तो आप उससे backlink ले  सकते है| इससे लिए आपको साइट एडमिन से बात करनी होगी| हो सकता है कि वह guest post के बदले आपको backlink  दे दे या आपको कुछ paid करके backlink लेना पड़े| लेकिन अगर आप backlink बना रहे हों जो बहुत जरुरी है तो अच्छी साइट से ले जिसका DA,PA ज्यादा हो| आप Website seo checker साइट की हेल्प से साइट का DA,PA चेक कर सकते है| और दूसरा जो आपकी साइट का कंटेंट है उसी कंटेंट की same साइट से backlink लीजिये| जो आपकी साइट की google ranking में हेल्प करेगा| आप कुछ साइट से paid बैकलिंक भी ले सकते है| लेकिन इसमें ये खतरा है की अगर कही आपको low-quality का बैकलिंक मिल गया तो साइट की रैंकिंग कम होगी और spam स्कोर भी बढ़ने की आशंकाये रहती है| और दूसरी बात, अगर आपको बहुत सारे बैकलिंक एक साथ मिल जाए तो गूगल को भी शक होता है| और ऐसे में गूगल आपकी रैंकिंग गिरा देता हैं या Adsense को बंद कर देता है|

17. किसी भी साइट का आर्टिकल modified कर यूज़ न करें

दोस्तों, कई लोग इस फील्ड में नए होने के कारण कंटेंट राइटर को work from home hire करते है| और उनसे काम करवाते है| ऐसे में कंटेंट राइटर कहीं से टॉपिक उठाकर उसे थोड़ा modfied करके दे देते है| जिससे कंटेंट copyright तो नहीं होता लेकिन जैसा की मैंने आपको बताया कि गूगल का algorithm बहुत स्मार्ट है| वह जानता है की ऐसा कंटेंट या नॉलेज लोग पहले ही प्रोवाइड करा चुके है| तो वह आपके कंटेंट को रैंक नहीं करता है| गूगल एकदम फ्रेश कंटेंट with नॉलेज चाहता है| बस इतनी सी बात आप लोगो को समझनी होगी| या आप खुद भी किसी साइट का कंटेंट modified कर उसे साइट में पोस्ट न करें| आप पहले नॉलेज लें फिर कंटेंट लिखें या कंटेंट राइटर को सामने काम करवाये| इससे कंटेंट भी फ्रेश होगा और आपको काम भी ज्यादा मिलेगा|

18. जरुरी plugin का ही यूज़ करें

दोस्तों, कुछ लोग बिना सोचे समझे जरुरत से ज्यादा Plugin को install कर देते है| इससे उनका काम तो आसान हो जाता है लेकिन इसकी सजा मिलती है साइट को| आपकी साइट पर इसका लोड बढ़ जाता है| और साइट की स्पीड धीमी हो जाती है| और users को दिक्कत होती है| पोस्ट का लोडिंग टाइम बढ़ जाता है| इससे बचें?

19. Yoast Seo का उपयोग करें

दोस्तों, अगर आपके Admin Panel में Yoast Seo का Plugin नहीं है तो अभी install कर दें| क्योकि यहां On Page Seo को बढ़ता है जिससे साइट का DA, PA बढ़ने में हेल्प मिलती है| Basically , यह एक फ्री Plugin है | But आप इसका Paid-Version भी use कर सकते है| में इसका फ्री version यूज़ करता हूँ| यहां मुझे बताता है कि मेरी पोस्ट का On page seo कैसा है| बस कुछ चीज़ों को सेट करना होता है| जो हमारी पोस्ट पर depend करता है| अगर आप इसे यूज़ करेंगे तो आपको धीरे-धीरे पता चल जाएगा| लेकिन अगर नए ब्लॉगरो को इससे कुछ प्रॉब्लम है तो मुझे कमेंट में बताइये ?

20.Meta Tag Discription-

आपने इमेज में देख लिया होगा कि Meta Tag Discription क्या होता है| बहुत से लोग आर्टिकल को क्लिक करने से पहले Meta Discription को पढ़ते है| और यहां लोगो को Attract करता है आर्टिकल को Click कर पढ़ने के लिए| Meta discription पढ़कर लोगो को पोस्ट के बारे में पता चल जाते है| और आप जितना हो सकें,Meta discription में main-point को कवर कीजिये| क्योकि आप इसमें सिर्फ 155-160 word ही add क़र सकते हैं| जो लोगो को आपको पोस्ट का शॉर्ट discription प्रोवाइड करवाता है|

21. Mobile-Friendly साइट बनायें

दोस्तों, यहां Mobile Friendly साइट से मतलब है कि आपकी साइट की जो Theme है जो भी आपने सेलेक्ट की है वहां desktop के मुकाबले Mobile Friendly ज्यादा होनी चाहिए| क्योकि लोग Laptop या Pc के मुकाबले मोबाइल का यूज़ ज्यादा करते है| और ऐसे में अगर आपकी साइट Moobile Friendly नहीं होगी और लोगो को प्रॉब्लम आएगी तो वो आपकी साइट पर आना पसंद नहीं करेंगे| जिससे आपकी साइट की Google Ranking गिर जायेगी| और वैसे भी दोस्तों, 2019 में 4.68 लोग मोबाइल का यूज़ करना ज्यादा पसंद करते थे| जिसमें यह आंकड़ा 2020 में 9.3% से बढ़कर 5 Billion पार हो गया है| इसीलिए जितना हो सकें, साइट को Mobile-Friendly बनायें|

22. एक Niche एक Goal

दोस्तों, कुछ लोग इस फील्ड में नए आकर सोचते है कि वह सब विषयों में नॉलेज प्रोवाइड करवाएंगे या बहुत सारा कंटेंट लिखेंगे तो बहुत पैसे कमाएंगे| लेकिन ऐसा नहीं है यहां समय और पैसा दोनों की बर्बादी करता है| इससे गूगल अल्गोरिथम को आपकी साइट का कंटेंट पहचानने में गड़बड़ी होती है| और वह आपकी साइट के कंटेंट को google ranking नहीं दे पाता है| इसलिए किसी एक Niche पर काम करें जिससे बारे में आपको नॉलेज है| बहुत सारे ऐसे ब्लॉगर है जो एक Niche पर काम करते है और उसी से महीनो का लाखों कमाते है| आप सभी Niche पर कमान नहीं बना सकते क्योकि वह तो न्यूज़ वाले ऐसा काम करते है| उन पर पूरी टीम रहती है अलग-अलग Niche के लिए अलग-अलग लोग| इसलिए एक Niche और एक ही Goal पर फोकस रहिये| अगर आप बहुत सारी नाव पर पैर रखेंगे तो आपके डूबने की संभावना ज्यादा रहती है|

23. साइट को HTTP से HTTPS पर शिफ्ट करें

दोस्तों, इसकी फुल फॉर्म Hyper Text Transfer Protocol Secure हैं| ,दोस्तों, 2018 के बाद से गूगल के Chrome Browser ने जो साइट Https नहीं है उनको Non Secure दिखाना शुरू करदिया है| जिसका मतलब है कि यह साइट सुरक्षित है| और आप इस साइट पर क्रेडिट कार्ड, पासवर्ड details शेयर नहीं कर सकते है| इसलिए गूगल chrome ने साइट को Secure करने से उद्देश्य से Https को मान्यता दी है| इसमें आप SSL सर्टिफिकेट की हेल्प से साइट को हैकरो से बचाने के लिए सुरक्षित कर सकते है| यह आपके ब्राउज़र और सर्वर के बीच एक Secure Connection बनाता है| जिससे हैकरो के लिए कनेक्शन को हैक करना मुश्किल हो जाता है|

24. On-Page Seo

On-Page Seo एक बहुत ही जरुरी Term है| ब्लॉग को रैंक करवाने में On-Page Seo सबसे अहम चीज़ है| आप बिना On-Page Seoको सही करे अपनी पोस्ट को google ranking नहीं करा सकते है| आपकी Yoast Plugin आपको On Page Seo को सही करने में बहुत हेल्प करती है| यह पोस्ट की Title, Keyword Density,Alt-image ,Meta Discription और Focus keyword को सही करने में हेल्प करती है| जिससे आपसे पेज का On-Page Seo बढ़ता है और पोस्ट आसानी से रैंक हो जाती है| आप इस लिंक पर जाकर On-Page Seo के बारे में पढ़ सकते है|

Title- एक अच्छा Title 7-8 word का होना चाहिए| इसीलिए जितना हो सके, Title को लॉन्ग कीवर्ड में रखिये|
Keyword-density-जितना हो सकें कीवर्ड को ज्यादा यूज़ करे| जिससे गूगल कीवर्ड को crawl कर सकें और रैंक कर सके|
Alt-image- इमेज में टाइटल, discription और link discription प्रोवाइड करवाए जिससे इमेज गूगल में आपके ब्लॉग के नाम से अपलोड हो|
Meta-discription- Meta-discription शॉर्ट और main पॉइंट कवर होना चाहिए| और Discription 155-160 word का होना चाहिए|
Focus-keyword- Focus keyword जितना हो सकें पोस्ट में ज्यादा प्रोवाइड करवाने की कोशिश कीजिये|